WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

CTET Answer Key 2024: सीटीईटी पेपर 1 और उत्तर कुंजी का पीडीएफ डाउनलोड करें

CTET Answer Key 2024: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा 21 जनवरी 2024 को सीटीईटी 2024 परीक्षा का सफल आयोजन किया गया। यह परीक्षा ऑफलाइन मोड, अर्थात पेन और पेपर मोड में हो हुई। पेपर होने के बाद सभी परीक्षार्थी अपने अंक को लेकर बेचैन है जिसके लिए वह आंसर की का इंतजार कर रहे हैं। सीबीएसई बोर्ड जल्द ही परीक्षा के प्रश्नपत्रों के लिए उत्तर कुंजी भी जारी करेगा। CTET 2024 के स्कोर की गणना उम्मीदवारों के द्वारा दिए गए सही उत्तरों के आधार पर की जाएगी।

CTET Answer Key 2024

सीबीएसई द्वारा 21 जनवरी 2024 को ऑफलाइन मोड में आयोजित की गई सीटीईटी परीक्षा 2024 की पहली पारी का समय सुबह 9:30 बजे से लेकर 12:00 बजे तक था, जबकि दूसरी पारी का समय दोपहर 2:00 बजे से लेकर 4:30 बजे तक रखा गया था। CTET 2024 की ऑफिशियल आंसर की अगले महीने आधिकारिक पर जारी की जा सकती है।

क्या है आर्टिकल में

विभिन्न कोचिंग सेंटर्स ने CTET 2024 की अनऑफिशियल उत्तर कुंजी जारी की है। आधिकारिक आंसर की जारी होने के बाद हम यहां पेपर 1 और पेपर 2 के सभी सेटों के लिए सीटीईटी उत्तर कुंजी 2024 के लिए डाउनलोड लिंक यहां पर उपलब्ध करवा देंगे।

CTET Answer Key 2024: Paper Ist & 2nd Latest Update

सीटीईटी परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 3 नवंबर 2023 से शुरू हुई थी। यह आवेदन 1 दिसंबर तक चले। सीटीईटी की आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद परीक्षा का आयोजन किया जाना था जो लेवल वन और लेवल 2 पर होगी। सीटीईटी की लेवल 1 और लेवल 2 की परीक्षा 21 जनवरी 2024 को आयोजित की गई इस परीक्षा माध्यम ऑफलाइन था।

CTET Exam 2024 सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद सभी अभ्यर्थी सीटीईटी के दोनों पेपर की आंसर की का बेसब्रिज से इंतजार कर रहे हैं। अभी तक केवल विभिन्न कोचिंग संस्थाओं के माध्यम से आंसर की उपलब्ध कराई गई है लेकिन आधिकारिक आंसर के अभी तक जारी नहीं हुई है। आधिकारिक आंसर की जारी होने के बाद नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से आप डाउनलोड कर सकते हैं।

सीटीईटी आंसर की 2024 कैसे डाउनलोड करें 

  • इसके लिए सबसे पहले आपको ctet.nic.in वेबसाइट पर जाना है।
  • वहां पर आपको लेटेस्ट न्यूज़ के ऑप्शन में सीटीईटी आंसर की 2024 की लिंक मिल जाएगी।
  • लिंक पर क्लिक करके उत्तर कुंजी को डाउनलोड कर ले।

CTET 2024 Paper- 1 With Solutions

बाल विकास व शिक्षा शास्त्र (Part-1)

1. जीन पियाजे का मानना था कि ज्ञान है:

  • एक दृश्य व्यवहार परिवर्तन है जिसे विश्वसनीयता के साथ मापा जा सकता है।
  • पर्यावरण से निष्क्रिय रूप से पारित होने के बजाय बच्चे द्वारा निर्मित किया जाता है।
  • अंतःक्रियाओं के माध्यम से प्राप्त करने के बजाय जन्मजात और दिया हुआ होता है।
  • अधिक जानकार अन्य लोगों के साथ बातचीत से सह-निर्मित होता है।

2. किशोरावस्था के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है?

  • विभिन्न संस्कृतियों के बच्चे एक समान तरीके से किशोरावस्था में प्रवेश करते हैं और इसे अनुभव करते हैं।
  • किशोरावस्था एक सामाजिक रचना है।
  • किशोरावस्था को आमतौर पर यौवन को शुरू करने के लिए माना जाता है – यह एक ऐसी प्रक्रिया है जो यौन परिपक्वता और पुनरुत्पादन की क्षमता की ओर ले जाती है।
  • किशोरावस्था बचपन और वयस्कता के बीच विकासात्मक संक्रमण है जिसमें शारीरिक, संज्ञानात्मक और मनोसामाजिक परिवर्तन होते हैं।

3. निम्न में से कौन सा एक महारत लक्ष्य अभिविन्यास का वर्णन करता है?

  • अपमान के डर से असफलता या सजा से बचने पर ध्यान देना।
  • दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए एक निश्चित स्तर के प्रदर्शन को प्राप्त करने पर ध्यान देना।
  • किसी कार्य के लिए अपनी कौशल और समझ को सुधारने पर ध्यान देना।
  • बाहरी पुरस्कार प्राप्त करने के लिए उच्च ग्रेड प्राप्त करने पर ध्यान देना।

4. निम्नलिखित में से कौन प्रगतिशील शिक्षा में शिक्षक की भूमिका का सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • शिक्षक बच्चों को स्वतंत्र रूप से सीखने देता है और उनके सीखने में हस्तक्षेप नहीं करता है।
  • शिक्षक कक्षा में ज्ञान और प्राधिकार का प्राथमिक स्रोत है।
  • शिक्षक बच्चों को प्रयोग करने के लिए विविध सामग्री प्रदान करता है और आवश्यकता पड़ने पर आलम्बन प्रदान करता है।
  • शिक्षक पाठ्यचर्या मानकों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है।

5. जीन पियाजे के अनुसार चिन्हों के लिए चिन्हों का प्रयोग करने की क्षमता जैसे कि अक्षर X को अज्ञात अंक के लिए मानने की क्षमता …… के दौरान विकसित होती है और विद्यार्थियों को …… सीखने में सक्षम बनाती है।

  • औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था; सरक्षण और क्रमबद्धता
  • मूर्त संक्रियात्मक अवस्था; बीजगणित और गणना
  • मूर्त संक्रियात्मक अवस्था; संरक्षण और क्रमबद्धता
  • औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था; बीजगणित और गणना

6. निम्नलिखित में से कौन सा एक ऐसे प्रश्न का उदाहरण है जिसमें छात्रों को जानकारी का विश्लेषण करने की आवश्यकता होती है?

  • “टू किल ए मॉकिंगबर्ड” का नायक कौन है?
  • “टू किल ए मॉकिंगबर्ड” उपन्यास का कथानक क्या है?
  • “टू किल ए मॉकिंगबर्ड” उपन्यास का विषय क्या है?
  • “टू किल ए मॉकिंगबर्ड” में लेखक प्रतीकवाद का उपयोग कैसे करते हैं?

7. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A): छात्रों के अच्छा प्रदर्शन करने और स्कूल में बने रहने की अधिक संभावना है यदि उनको अपने स्कूल से भावनात्मक लगाव है और वे मानते हैं कि उनका होना मायने रखता है।

कारण (R): भावनाएँ सीखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

  • (A) और (R) दोनों गलत है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

8. “पाठ्यपुस्तकों और मीडिया में विभिन्न जेंडर का प्रतिनिधित्व कितना और किस तरीके से किया जाता है” जैसे महत्वपूर्ण प्रश्न पूछने से किसको प्रोत्साहन मिलेगा?

  • जेंडर भूमिका की नम्यता के हतोत्साहित को
  • जेंडर रूढ़ियों पर सवाल उठाना
  • जेंडर स्थिरता को मजबूत करना
  • जेंडर पहचान को मजबूत करना

9. शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत भिन्नताओं को संबोधित करने के लिए एक शिक्षक को :

  • सभी शिक्षार्थियों के लिए एक अनम्य और समान पाठ्यक्रम लागू करना चाहिए
  • मतभेदों को असामान्य और एक प्रकार की कमी के रूप में स्वीकार करना चाहिए
  • व्यक्तिगत भिन्नताओं को नज़र-अंदाज़ करना चाहिए
  • भिन्नताओं को मानव विविधता की प्रत्यक्ष विशेषता के रूप में मानना चाहिए

10. एक प्रगतिशील कक्षा में आकलन:

  • मानक संदर्भित होता है
  • गतिशील होता है
  • वस्तुनिष्ठ होता है
  • योगात्मक होता है

11.आलोक निम्नलिखित व्यवहार दिखाता है : पढ़ते समय सिर को अजीब स्थिति में पकड़ना; आँख को बार-बार मूंदना और रगड़ना; आँखों की लाली/सूजन; अक्षर पहचान में भ्रमित होना। यह किसके संभावित लक्षण हो सकते हैं?

  • संचार संबंधी विकार
  • दृष्टि संबंधी समस्याएँ
  • भाषा की समझ की समस्या

12. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A) : वह कोई उद्देश्यात्मक निश्चित क्षण नहीं होता जब कोई बच्चा मध्य बाल्यावस्था या किशोरावस्था में प्रवेश करता है।

कारण (R) : विकास, प्रकृति में निरंतर होता रहता है।

  • (A) और (R) दोनों गलत
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

13. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A) : शिक्षकों को निरंतर अपने स्वयं के रूढ़िवादिता और पूर्वाग्रहों पर चिंतन करना चाहिए।

कारण (R) : सांस्कृतिक रूप से उत्तरदायी शिक्षण का अर्थ है कि शिक्षक चिंतनशील हो।

  • (A) और (R) दोनों गलत है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

14. वयगोत्स्की के अनुसार, संज्ञानात्मक विकास को सुगम बनाने में शिक्षक की क्या भूमिका है?

  • केवल उन्हीं कार्यों को देना जो विद्यार्थी वर्तमान में स्वतंत्र रूप से कर सकता है।
  • छात्र को जानकारी और ज्ञान प्रदान करना।
  • आलम्बन के माध्यम से छात्र के सीखने का मार्गदर्शन और समर्थन करना।
  • छात्र को पूरी तरह से स्वतंत्र रूप से सीखने की अनुमति देना।

15. एक माध्यमिक स्कूल शिक्षक छात्रों को संकल्पनाओं और वास्तविक दुनिया के अनुप्रयोगों के बीच संबंध बनाने में मदद करके सार्थक सीखने को सक्षम बनाना चाहता है। निम्नलिखित में से कौन सी गतिविधि एक उपयुक्त शैक्षणिक रणनीति होगी?

  • छात्रों को छोटे समूहों में वर्तमान मुद्दे पर शोध करने दें और अपने निष्कर्ष कक्षा में प्रस्तुत करें।
  • छात्रों को नियम और परिभाषाएँ याद करने दें।
  • विद्यार्थियों से बहुविकल्पीय प्रश्नों वाली कार्य पत्रक पूरी करने को कहें।
  • विद्यार्थियों को उद्दीपक-प्रतिक्रिया अनुबंधन की विधि द्वारा सीखने को कहें।

16. लेव-वायगोत्स्की के अनुसार बच्चे …. के साथ अंतःक्रिया के अनुभव से लाभान्वित होते हैं और उन कार्यों को कर पाते हैं जो उनके समीपदुराभिमुख विकास के क्षेत्र के …… है।

  • भौतिक वातावरण; बस बाहर
  • अधिक जानकार अन्य; अंदर
  • अधिक जानकार अन्य; बस बाहर
  • भौतिक वातावरण; अंदर

17. अपपठन वैकल्य/डिस्लेक्सिया एक ….. स्थित है जो शिक्षार्थी की ….. की क्षमता को प्रभावित करती है।

  • संवेदी, शारीरिक गतिविधियों के समन्वय
  • भावनात्मक, चित्र बनाने
  • तंत्रिकीय/न्यूरोलॉजिकल, ध्वनियों को प्रतीकों चिन्हों के साथ जोड़ने
  • शारीरिक, साथियों के साथ सामाजीकरण

18. निम्नलिखित में से कौन सा समाजीकरण की प्रक्रिया की विशेषताएँ हैं?

  • यह एक रेखीय प्रक्रिया है।
  • यह एक जटिल प्रक्रिया है।
  • यह एक बहुआयामी प्रक्रिया है।
  • यह विभिन्न संस्कृतियों में विशिष्ट रूप से होती है।
  1. a, b, c, d  (2) a, b  (3) b,c  (4) b, c, d

19. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A) : एक समावेशी कक्षा में, सीखने के लक्ष्यों, शैक्षणिक रणनीतियों के साथ-साथ आकलन में अनुकूलन किया जाना चाहिए।

कारण (R) : समावेशन का दर्शन शैक्षणिक दृष्टिकोण और मूल्यांकन के माध्यम से सभी व्यक्तिगत मतभेदों को समाप्त करने की वकालत करता है।

  • (A) और (R) दोनों गलत है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

20. निम्नलिखित में से कौन एक समावेशी कक्षा का उदाहरण नहीं है?

  • प्रतिस्पर्धी लोकाचार को प्रोत्साहित करना
  • विविध दृष्टिकोणों का समावेश
  • उचित समावेशन का पालन
  • विभेदित निर्देश देना

21. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A) : एक बच्चा किसी कार्य को करने में जितना कम सक्षम होता है, शिक्षकों को उतने ही अधिक संकेत व इशारे देनी चाहिए और जैसे-जैसे बच्चा अधिक से अधिक कर सकता है, शिक्षक को कम से कम मदद करनी चाहिए।

कारण (R) : बुद्धि को बुद्धि-लब्धि की गणना करके सटीक रूप से नहीं मापा जा सकता है।

  • (A) और (R) दोनों गलत है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

22. एक शिक्षिका ने नोटिस किया कि उसका एक छात्र अत्यधिक विचलित है और उसे कक्षा के दौरान ध्यान देने में परेशानी होती है। निम्नलिखित में से कौन सी रणनीति छात्र को केंद्रित रहने में मदद करने के लिए एक प्रभावी रणनीति होगी?

  • माता-पिता को बुलाकर छात्र के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई करना।
  • छात्र को कक्षा के दौरान बार-बार करने के लिए कार्य देना।
  • (3) छात्र को सख्ती से अपना अवधान अवधि बढ़ाने के लिए कहना।
  • स्व-नियमन और समय-प्रबंधन के लिए छात्र को टाइमर देना।

23. सही विकल्प चुनें।

अभिकथन (A) : वास्तविक जीवन की समस्याओं और मूर्त अनुभवों से सीखने से बच्चों को अधिगम और जानकारी प्राप्त करने के लिए कई रास्ते मिलते हैं।

कारण (R) : विकास अपेक्षाकृत व्यवस्थित और अनुक्रमिक है।

  • (A) और (R) दोनों गलत है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की (R) सही व्याख्या करता है।
  • (A) और (R) दोनों सही हैं लेकिन (A) की (R) सही व्याख्या नहीं करता है।
  • (A) सही है लेकिन (R) गलत है।

24. रचनात्मक मूल्यांकन के लिए कार्य की प्रगति को दर्शति पोर्टफोलियो एक प्रभावी प्रणाली है क्योंकि –

  • वे मूल्यांकन की प्रक्रिया में छात्रों को शामिल करते हैं।
  • वे व्यक्तिगत छात्रों की प्रगति के बारे में अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं।
  • वे मुख्य रूप से अंतिम उत्पाद की प्रस्तुति पर ध्यान केंद्रित करते हैं।
  • वे छात्र अधिगम के ठोस सबूत पेश करते हैं।

(1) (a), (b), (d)  (2) (b),  (c) (3) (a), (d)  (4) (a), (b), (c)

25. निम्नलिखित में से कौन सा संरचनावादी अधिगम सिद्धांत का मूल सिद्धांत है?

  • अधिगम मुख्य रूप से एक निष्क्रिय प्रक्रिया है जिसमें सूचना प्राप्त करना और याद रखना शामिल है।
  • शिक्षकों के छात्रों को प्रत्यक्ष निर्देश और स्पष्ट मार्गदर्शन प्रदान करना चाहिए।
  • अधिगम तब होता है जब छात्रों को शिक्षकों से सही उत्तर और प्रतिपुष्टि मिलती है।
  • छात्र अपने पर्यावरण के साथ सक्रिय संलग्नता के माध्यम से अपने ज्ञान का निर्माण करते हैं।

26. कोहलबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धांत की कैरोल गिलिगन की आलोचना का केंद्रीय तर्क है :

  • स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए अध्ययन के शैक्षिक निहितार्थ।
  • देखभाल की नैतिकता और नारीवादी दृष्टिकोण।
  • बच्चों की नैतिक क्षमताओं को अधिक आंकना।
  • बच्चों के अध्ययन में प्रायोगिक शोध प्रणाली का उपयोग।

27. सुजाता नृत्य प्रतियोगिता में केवल इसलिए उत्सुकता से भाग लेती है क्योंकि वह नेकद का प्रथम पुरस्कार जीतने में रुचि रखती है। सुजाता –

  • असफलता परिहार शिक्षार्थी है।
  • आंतरिक रूप से प्रेरित हैं।
  • बाहरी रूप से प्रेरित है।
  • महारत उन्मुख शिक्षाथी है।

28. निम्नलिखित में से कौन सी प्रक्रिया वातावरण से प्राप्त जानकारी के अर्थ-निर्माण और इसे स्मृति में आगे संग्रहीत करने के लिए आवश्यक है?

  • पुनर्प्राप्ति
  • ध्यान देना
  • क्षय होना 
  • भूलना

30. एक प्रारंभिक विद्यालय का शिक्षक छात्र के शैक्षणिक आत्म-संप्रत्यय के विकास को दृढ़ता से प्रभावित कर सकता है :

  • विशेष छात्रों से बहुत कम उम्मीदें रखना
  • सभी विद्यार्थियों से बहुत कम अपेक्षाएँ रखना
  • छात्रों में स्वायत्तता और पहल को दंडित करना
  • छात्रों में स्वायत्तता और पहल को पुरस्कृत करना

गणित एवं विज्ञान (Part-2)

 31. किसी बहुफलकी के शीर्षों (V), किनारों (E) और फलकों (F) की संख्याएँ क्रमशः 10, 15 और x हैं। तब (3x-12) का मान है :

  • 18
  • 7
  • 9
  • 14

यूलर का सूत्र किसी बहुफलकी के लिए, V – E + F = 2 का उपयोग करके, हम प्राप्त कर सकते हैं:

10 – 15 + x = 2

x = 17

(3x-12) = (3 * 17) – 12 = 51 – 12 = 9

इसलिए, सही उत्तर 9 है।

इस समस्या को हल करने का एक अन्य तरीका है कि हम यूलर के सूत्र को इस प्रकार लिखें:

V + F = E + 2

10 + x = 15 + 2

x = 17

(3x-12) = (3 * 17) – 12 = 51 – 12 = 9

इसलिए, फिर से, सही उत्तर 9 है।

32. p^{3}x+p^{2}-(x-y)-p(y+z)-z के गुणनखंडों में से एक गुणनखंड है :

  • p^{2}x+py-z
  • p^{2}x-py+z
  • p^{2}x+py+z
  • p^{2}x-py-z

33. यदि 8 – अंकीय संख्या 9471 x9y 2, 72 से विभाज्य है, तो निम्न में से कौनसा कथन सत्य नहीं है?

  • X=3 और y=1
  • x=8 और y=5 
  • x=4 और y=9
  • x=9 और y=5

एक संख्या 72 से विभाज्य होने के लिए, उसे 8 और 9 दोनों से विभाज्य होना चाहिए।

x=3 और y=1 के लिए, अंतिम तीन अंक 912 हैं। 912 9 से विभाज्य नहीं है, इसलिए संख्या 72 से विभाज्य नहीं है।

इसलिए, x=3 और y=1 कथन सत्य नहीं है।

बाकी तीन कथन सत्य हैं क्योंकि:

  • x=8 और y=5 के लिए, अंतिम तीन अंक 852 हैं। 852 8 से विभाज्य है और 9 से विभाज्य है, इसलिए संख्या 72 से विभाज्य है।
  • x=4 और y=9 के लिए, अंतिम तीन अंक 492 हैं। 492 8 से विभाज्य है और 9 से विभाज्य है, इसलिए संख्या 72 से विभाज्य है।

34. कोई दुकानदार एक वस्तु को उसके अंकित मूल्य पर 28% की छूट देकर ₹ 324 पर बेचता है। वस्तु का क्रय मूल्य ₹ 301 है। यदि वह उस वस्तु को उसके उसी अंकित मूल्य पर 18% की छूट देकर बेचे, तो उसका लाभ प्रतिशत क्या होगा?

  • 24%
  • 10%
  • 19%
  • 23%

35. ……….द्वारा अवधारणा को ‘स्कीमा’ के रूप में नामांकित किया गया था।

  • वैन हैले
  • वाईगोत्सकी
  • पियाजे
  • ब्रूनर

36. त्रिभुज PQR में, P=55° और QR= 18 cm है। निम्न स्थितियों में से किसमें APQR एक अधिक कोण विषमबाहु त्रिभुज हो सकता है?

  • R=35° और PR=18 cm
  • R=25° और PQ=18 cm
  • R=15° और PR > 18 cm
  • R=65° और PQ > 18 cm

त्रिभुज PQR में, P = 55° और QR = 18 cm है।

दिए गए विकल्पों को एक-एक करके देखते हैं: R = 35° और PR = 18 cm:
  • इस स्थिति में, त्रिभुज PQR एक समबाहु त्रिभुज होगा, क्योंकि यहाँ दोनों कोण सम हैं (55° + 35° = 90°) और दोनों भुजाएँ बराबर हैं (PR = QR).
R = 25° और PQ = 18 cm:
  • इस स्थिति में, त्रिभुज PQR विषमबाहु त्रिभुज होगा, क्योंकि यहाँ तीनों कोण विषम हैं (55° + 25° < 180°)।
R = 15° और PR > 18 cm:
  • इस स्थिति में, त्रिभुज PQR सीधी भुजा वाला त्रिभुज होगा, क्योंकि यहाँ एक कोण 90° से छोटा है और भुजा QR की लंबाई से कम है (15° < 90°, PR < QR).
R = 65° और PQ > 18 cm:
  • इस स्थिति में, त्रिभुज PQR विषमबाहु त्रिभुज होगा, क्योंकि यहाँ एक कोण 90° से बड़ा है और भुजा QR की लंबाई से कम नहीं है (65° > 90°, PQ > QR).
इसलिए, सही उत्तर है – R = 25° और PQ = 18 cm

Leave a Comment