WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

[PDF] Rajasthan Anganwadi Supervisor Syllabus 2024 in Hindi: आंगनवाड़ी पर्यवेक्षक पाठ्यक्रम, एग्जाम पैटर्न की विस्तृत जानकारी

Rajasthan Anganwadi Supervisor Syllabus 2024:राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (RSMSSB) द्वारा आंगनवाड़ी पर्यवेक्षक (महिला) के 202 पदों पर होने वाली परीक्षा के लिए आधिकारिक सिलेबस जारी कर दिया है। इस सिलेबस की विस्तृत जानकारी आपको आर्टिकल में दी गई है। राजस्थान आंगनवाड़ी पर्यवेक्षक सिलेबस 2024 (Anganwadi Supervisor Syllabus) का पीडीएफ भी आप डाउनलोड कर सकते हैं।

OrganizationRajasthan Staff Selection Board (RSMSSB)
Post NameAnganwadi Supervisor
Total Posts202
Salary/ Pay ScaleLevel-7
LocationRajasthan
Mode of ApplyOnline
Online Form21 Feb. to 21 March 2024
Syllabus Release Date13 February 2024
Official Websitersmssb.rajasthan.gov.in

Rajasthan Anganwadi Supervisor Syllabus 2024: लेटेस्ट अपडेट

राजस्थान आंगनवाड़ी सुपरवाइजर भर्ती 2024 के लिए आयोजित होने वाली लिखित परीक्षा के लिए सिलेबस जारी हो चुका है और जो भी उम्मीदवार इन पदों के लिए लंबे समय से तैयारी कर रहे हैं उन्हें बता दें कि यदि सिलेबस के बाहर कुछ और पढ़ रहे हैं तो है अच्छी बात है लेकिन इस सिलेबस में कुछ ऐसे टॉपिक दिए गए हैं जिनके बारे में बाहर से पढ़ना अपना कीमती समय खराब करना है। यहां पर आपको Rajasthan Anganwadi Supervisor Vacancy 2024 के सिलेबस की जानकारी सभी विषय अनुसार दी गई है।

Rajasthan Anganwadi Supervisor Exam Pattern 2024

RSMSSB द्वारा आंगनवाड़ी पर्यवेक्षक के पदों पर उम्मीदवारों का चयन करने के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन करवाया जाएगा। इस लिखित परीक्षा में दो खंड रहेंगे। पेपर ग्रेजुएशन स्टैंडर्ड (पोषण, स्वास्थ्य, प्रारंभिक बाल देखभाल और शिक्षा पर विशेष ध्यान देने के साथ) आधार पर होगा और इसमें वस्तुनिष्ठ (बहुविकल्पीय) प्रकार के प्रश्न रहेंगे, जिनके लिए कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

Section A 

क.सं.विषयअंक-100समय
(क) भाषा ज्ञान, तर्क शक्ति एवं सामान्य ज्ञान3 घंटे
1सामान्य हिन्दी50
2सामान्य अंग्रेजी25
3गणित एवं सामान्य तर्क शक्ति25

Section B

क.सं.विषयअंक-100समय
(क)पोषण व स्वास्थ्य का ज्ञान तथा योजनाएं653 घंटे
(ख)शिशु की प्रारम्भिक देखभाल एवं शिक्षा35

Rajasthan Anganwadi Supervisor Syllabus 2024

Section-A

(क) भाषा ज्ञान, तर्क शक्ति एवं सामान्य ज्ञान

  1. सामान्य हिन्दी
    • सन्धि और संधि विच्छेद
    • सामासिक पदों की रचना और समास-विग्रह
    • उपसर्ग एवं प्रत्यय
    • पर्यायवाची शब्द
    • विलोम शब्द
    • अनेकार्थक शब्द
    • शब्द – युग्म
    • शब्द – शुद्धि: अशुद्ध शब्दों का शुद्धीकरण और शब्दगत अशुद्धि का कारण
    • वाक्य – शुद्धि: अशुद्ध वाक्यों का शुद्धीकरण और वाक्यगत अशुद्धि का कारण
    • वाच्य: कृतवाच्य, कर्मवाच्य और भाववाच्य प्रयोग
    • क्रिया: सकर्मक, अकर्मक और पूर्वकालिक क्रियाएं
    • वाक्यांश के लिए एक सार्थक शब्द
    • मुहावरे और लोकोक्तियाँ
    • अंग्रेजी के पारिभाषिक (तकनीकी) शब्दों के समानार्थक हिन्दी शब्द
  2. General English
    • Tenses/ Sequence of Tenses
    • Voice: Active and Passive
    • Narration: Direct and Indirect
    • Transformation of Sentences: Assertive to Negative, Interrogative, Exclamatory and vice-versa
    • Use of Articles and Determiners
    • Use of Prepositions
    • Translation of Simple Sentences from Hindi to English and vice versa
    • Correction of Sentences including Subject, Verb Agreement
    • Degrees of Adjectives
    • Connectives and words wrongly used
    • Glossary of official, Technical Terms (with their Hindi Versions)
    • Synonyms
    • Antonyms
    • One-word substitution
    • Forming new words by using prefixes and suffixes
  3. गणित एवं सामान्य तर्क शक्ति
    • गणित :- अनुपात एवं समानुपात, प्रतिशत, लाभ एवं हानि, बट्टा, साधारण एवं चक्रवृद्धि ब्याज।
    • तार्किक दक्षता :- कथन एवं मान्यताएं, कथन एवं तर्क, कथन एवं निष्कर्ष,
    • विश्लेषणात्मक तर्क क्षमता :- दिशा बोध, आयु संबंधी शंकाएं।
    • मानसिक योग्यता :- बेमेल छांटना, कूटवाचन (कोडिंग-डीकोडिंग) संबंधों।

Section-B

(क) पोषण एवं स्वास्थ्य का ज्ञान तथा योजनाएं

  1. पोषण
    • संतुलित आहार, मेको एवं माइको न्यूट्रिएण्टस (कैलोरी, प्रोट्रीन, विटामिन, सूक्ष्म, खनिज तत्व जैसे-आयोडि,न विटामिन ए. आयरन, जिंक, विटामिन्स तथा कैल्सियम) की कमी से होने वाली बिमारियां एवं उनकी रोकथाम।
  2. जीवन की विभिन्न अवस्थाओं में पोषण का महत्व
    • किशोरावस्था, गर्भावस्था, धात्री माताएं, नवजात शिशु, बाल्यावस्था, वयस्क।
  3. गर्भवती की देखभाल
    • गर्भावस्था में वजन की निगरानी, मातृ शिशु रक्षा, गर्भावस्था में खतरों से बचाव, गर्भावस्था में प्रसव पूर्व स्वास्थ्य जांच।
  4. टीकाकरण
    • राष्ट्रीय टीकाकरण के अन्तर्गत लगने वाले टीके, टीकाकरण का महत्व, टीकाकरण न होने का दुष्प्रभाव।
  5. स्वास्थ्य एवं पोषण के विभिन्न कार्यक्रम
    • एनआरएचएम एवं आईसीडीएस अन्तर्गत संचालित योजनाओं के साथ समेकित बाल विकास सेवाओं का परिचय, ऐतिहासिक पृष्ठभूमि एवं उद्वेश्य, समेकित बाल विकास सेवाओं के अन्तर्गत प्रदत्त सेवाएं एवं संचालित योजनाएं।
  6. कुपोषण
    • जन्म के पूर्व – कारण एवं संरक्षण के उपाय
    • जन्म के बाद – कारण एवं संरक्षण के उपाय
  7. सामान्य बिमारियों की जानकारी
    • दस्त, उल्टी, आंखों एवं नाल का संक्रमण, खसरा, गलघोटू, टिटनेस, कालीखांसी, टीबी, निमोनिया।

(ख) शिशु की प्रारम्भिक देखभाल एवं शिक्षा

  1. बाल विकास का परिचय
    • बुनियादी अवधारणाएं, वृद्धि एवं विकास के परिलक्षित करने वाले सिद्धांत, विकास के मशीन महत्वपूर्ण चरण, अनुवांशिकता और पर्यावरण का बाल विकास पर प्रभाव, प्रि-नेटल विकास, प्रथम तीन वर्ष में विकास, 3 से 6 वर्ष के मध्य विकास।
  2. शाला पूर्व शिक्षा परिचय
    • शाला पूर्व शिक्षा परिचय शाला पूर्व शिक्षा-अवधारणा एवं ऑँचित्य, आयु अनुरूप सीखने की श्रेणियां और स्तर, बच्चे के सीखने की प्रक्रिया और मानसिक क्षमताएं, शारीरिक एवं गत्यात्मक विकास: दिवालीसंज्ञानात्मक विकास, भाषा विकास, सामाजिक एवं भावनात्मक विकास, सृजनात्मक एवं सौन्दर्य बोध का विकास।