WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Rajasthan Naib Tehsildar Syllabus 2024 राजस्थान नायब तहसीलदार का संभावित सिलेबस देखें

Rajasthan Naib Tehsildar Syllabus 2024: राजस्थान में कुछ समय के बाद नायब तहसीलदार (Naib Tehsildar) के 225 (संभावित) पदों पर शीघ्र ही राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (RSMSSB) द्वारा नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। Rajasthan Naib Tehsildar Upcoming Vacancy 2024 के लिए होने वाली लिखित परीक्षा का संभावित सिलेबस भीहमारे द्वारा इस आर्टिकल में उपलब्ध करवाया गया है। हालांकि अभी तक बोर्ड द्वाराराजस्थान नायब तहसीलदार भर्ती 2024 से संबंधित किसी भी प्रकार की आधिकारिक अधिसूचना जारी नहीं हुई है।

  • पद: नायब तहसीलदार
  • संस्थान: राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (आरएसएसबी)
  • रिक्त पद: 225
  • परीक्षा माह: जल्द घोषित किया जाएगा
  • परीक्षा का तरीका: ऑफलाइन
  • आवेदन फॉर्म प्रारंभ तिथि: शीघ्र
  • आवेदन फॉर्म अंतिम तिथि: शीघ्र
  • आधिकारिक वेबसाइट: https://rsmssb.rajasthan.gov.in/

Rajasthan Naib Tehsildar Syllabus 2024

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा साल 2024 में नायाब तहसीलदार के 225 पदों (संभावित) पर होने वाली भर्ती के लिए उम्मीदवारों का चयन ऑफलाइन लिखित परीक्षा के माध्यम से किया जाएगा। Naib Tehsildar Upcoming Exam के सिलेबस और एग्जाम पैटर्न का अनुमान लगाकर यहां पर जानकारी दी गई है।

PART-A जनरल नॉलेज/ जनरल स्टडीज

खंड A- राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति, साहित्य, परम्परा और धरोहर

  • प्रागैतिहासिक काल से 18वीं शताब्दी के अवसान तक राजस्थान के इतिहास के प्रमुख युगांतकारी घटनाएं, महत्वपूर्ण राजवंष, उनकी प्रषासनिक एवं राजस्व व्यवस्था।
  • 19वीं-20वीं शताब्दी की प्रमुख घटनाएं: किसान एवं जनजाति आन्दोलन, राजनीतिक जागृति, स्वतन्त्रता संग्राम और एकीकरण।
  • राजस्थान की धरोहर: प्रदर्षन व ललित कलाएँ, हस्तषिल्प व वास्तुषिल्प, राजस्थान में विश्व विरासत के प्रमुख स्थल और राजस्थान में पर्यटन, मेले, पर्व, लोक संगीत व लोक नृत्य।
  • राजस्थानी साहित्य की महत्वपूर्ण कृतियाँ एवं राजस्थान की बोलियाँ।
  • राजस्थान के संत, लोक देवता एवं महत्वपूर्ण विभूतियाँ।

खण्ड B- राजस्थान की अर्थव्यवस्था

  • कृषि परिदृश्य- उत्पादन एवं उत्पादकता, जल संसाधन और सिंचाई, कृषि विपणन, डेयरी एवं पषुपालन।
  • ग्रामीण विकास और ग्रामीण अवसंरचना, पंचायती राज और राज्य वित्त आयोग।
  • औद्योगिक विकास का संस्थागत ढ़ाँचा, औद्योगिक वृद्धि और नवप्रवृतियाँ, खादी और ग्रामोद्योग।
  • अवसंरचना विकास- विद्युत और परिवहन, अवसंरचना में निजी विनियोग और सार्वजनिक-निजी सहभागिता परियोजनाएं- दृष्टिकोण और सम्भावनाएं।
  • राजस्थान की प्रमुख विकास परियोजनाएं, राज्य बजट और राजकोषीय प्रबंधन- मुद्दे और चुनौतियाँ।
  • राजस्थान की आर्थिक कल्याण योजनाएं। सामाजिक न्याय और सषक्तिकरण।
  • बुनियादी सामाजिक सेवाएं- षिक्षा व स्वास्थ्य, गरीबी, बेरोजगारी और सतत् विकास लक्ष्य।

खण्ड-C सामान्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

  • दैनिक जीवन में रसायन विज्ञान द्रव्य की अवस्थाएं, परमाण्विक संरचना, धातु, अधातु और उपधातु, धातुकर्म सिद्धांत और विधियाँ, महत्वपूर्ण अयस्क और मिश्र धातु अम्ल, क्षार और लवण, चुंबकीय और बफर की अवधारणाएं, महत्वपूर्ण औषधियां (संष्लेषित और प्राकृतिक), एंटीऑक्सिडेंट, परिरक्षक, कीटनाषी, पीड़कनाषी, कवकनाषी, शाकनाषी, उर्वरक, योजक और मधुरक कार्बन, इसके यौगिक और उनके घरेलू और औद्योगिक अनुप्रयोग रेडियोधर्मिता-अवधारणाएं और अनुप्रयोग।
  • दैनिक जीवन में भौतिकीय गुरुत्वाकर्षण, मानव नेत्र और दोष ऊष्मा स्थिर एवं धारा वैद्युतिकीय चुंबकत्व, वैद्युत चुंबकत्व, ध्वनि एवं विद्युत चुंबकीय तरंगें चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग और नाभिकीय चुंबकीय अनुनाद, नाभिकीय विखंडन और संलयन।
  • कोशिका मानव में नियंत्रण और समन्वय, प्रजनन, उत्सर्जन, श्वसन, परिसंचरण और पाचन तंत्रय रक्त समूह, रक्त की संरचना और कार्य हार्मोन आनुवांषिक एवं जीवन शैली के रोग मानव रोग- संचारी और गैर- संचारी, एंडेमिक, एपिडेमिक, पैनडेमिक रोग- इनके निदान और नियंत्रण, प्रतिरक्षीकरण और टीकाकरण ड्रग्स एवं एल्कोहल का दुरूपयोग पादप के भाग और उनके कार्य, पादपों में पोषण, पादप वृद्धि नियंत्रक, पादपों में लैंगिक और अलैंगिक प्रजनन, राजस्थान के विषेष संदर्भ में महत्वपूर्ण औषधीय पौधे जैविक खेती जैव प्रौद्यौगिकी और उसके अनुप्रयोग।
  • आधारभूत कंप्यूटर विज्ञान नेटवकिंग और प्रकार एनालॉग और डिजिटल दूरसंचार आवृत्ति स्पेक्ट्रम मोबाइल टेलीफोनी, सूचना और संचार प्रौद्यौगिकी में नूतन विकास- इंटेलिजेंस बिग डेटा, क्लाउड कंप्यूटिंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, क्रिप्टो करेंसी, ओटीटी प्लेटफॉर्म और सोषल मीडिया और उनके प्रभाव भारत में आईटी उद्योग डिजिटल ईं पहल।
  • विज्ञान और प्रौद्यौगिकी में भारतीय वैज्ञानिकों का योगदान, वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति- रोबोटिक्स, मषीन लर्निंग, ऑगमेंटेड रियलिटी, नैनो प्रौद्योगिकी, आरएफआईडी, क्वांटम कंप्यूटिंग आदि
  • राजस्थान में विज्ञान और प्रौद्यौगिकी का विकास, विज्ञान और प्रौद्यौगिकी से संबंधित सरकार की नीतियाँ।
  • अंतरिक्ष प्रौद्यौगिकी- भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम, उपग्रह और उनकी कक्षाएँ, विभिन्न प्रक्षेपण यान, सुदूर संवेदन।
  • रक्षा प्रौद्यौगिकी- मिसाइलें, भारतीय मिसाइल कार्यक्रम, रासायनिक और जैविक हथियार।

खण्ड D-राजस्थान

  • प्रमुख भौतिक भू-आकृतियाँ : पर्वत, पठार, मैदान, मरूस्थल।
  • प्रमुख नदियाँ एवं झीलें।
  • जलवायु : विशेषताएं एवं उनका वर्गीकरण।
  • प्रमुख वनस्पति प्रकार।
  • कृषि- प्रमुख फसलें : उत्पादन व वितरण।
  • धात्विक एवं अधात्विक खनिज : प्रकार, वितरण एवं उनका औद्योगिक उपयोग।
  • परम्परागत एवं गैर- परम्परागत ऊर्जा संसाधन।
  • जनसांख्यिकी विशेषताएं एवं प्रमुख जनजातियाँ।
  • वन्यजीव एवं जैव विविधता : चुनौतियां एवं संरक्षण।
  • यूनेस्को की भू-पार्क एवं भू-धरोहर स्थल संकल्पना : राजस्थान में संभावनाए।
  • प्रमुख पर्यावरण संबंधी मुद्दे।

इकाई E- भारतीय राजनीतिक व्यवस्था, विश्व राजनीति एवं समसामयिक मामले

  • भारत का संविधान: निर्माण, विषेषताएँ, संषोधन, मूल ढाँचा।
  • वैचारिक सत्व: उद्देषिका, मूल अधिकार, राज्य की नीति के निदेषक तत्व, मूल कर्तव्य।
  • संस्थात्मक ढाँचा –I: संसदीय प्रणाली, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री एवं मंत्रिपरिषद्, संसद।
  • संस्थात्मक ढाँचा –II: संघवाद, केन्द्र-राज्य संबंध, उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालय, न्यायिक पुनरावलोकन, न्यायिक सक्रियता।
  • संस्थात्मक ढाँचा –III: भारत निर्वाचन आयोग, नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक, संघ लोक सेवा आयोग, नीति आयोग, केन्द्रीय सतर्कता आयोग, केन्द्रीय सूचना आयोग, राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग।
  • राजनीतिक गत्यात्मकताएँ: भारतीय राजनीति में जाति, धर्म, वर्ग, नृजातीयता, भाषा एवं लिंग की भूमिका, राजनीतिक दल एवं मतदान व्यवहार, नागरिक समाज एवं राजनीतिक आंदोलन, राष्ट्रीय अखंडता एवं सुरक्षा से जुड़े मुद्दे, सामाजिक- राजनीतिक संघर्ष के संभावित क्षेत्र।
  • राजस्थान की राज्य-राजनीति: दलीय प्रणाली, राजनीतिक जनांकिकी, राजस्थान में राजनीतिक प्रतिस्पर्द्धा के विभिन्न चरण, पंचायती राज एवं नगरीय स्वषासन संस्थाएँ।
  • शीत युद्धोत्तर दौर में उदीयमान विश्व-व्यवस्था, संयुक्त राज्य अमरीका का वर्चस्व एवं इसका प्रतिरोध, संयुक्त राष्ट्र एवं क्षेत्रीय संगठन, अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की गत्यात्मकता, अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद एवं पर्यावरणीय मुद्दे।
  • भारत की विदेश नीति: उद्विकास, निर्धारक तत्व, संयुक्त राज्य अमरीका, चीन, रूस, यूरोपीय संघ एवं पड़ोसी देषों के साथ भारत के संबंध, संयुक्त राष्ट्र, गुट निरपेक्ष आंदोलन, ब्रिक्स, जी- 20, जी-77 एवं सार्क में भारत की भूमिका। 
  • दक्षिण एशिया, दक्षिण-पूर्व एशिया, पश्चिम एशिया एवं सुदूर पूर्व में भू-राजनीतिक एवं रणनीतिक मुद्दे तथा उनका भारत पर प्रभाव।
  • समसामयिक मामले: राजस्थान, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं, व्यक्ति एवं स्थान, खेलकूद से जुड़ी हाल की गतिविधियाँ।

Part-B लेखांकन एवं अंकेक्षण

  • लेखांकन की दोहरा लेखा प्रणाली का सामान्य ज्ञान, वित्तीय विवरण विष्लेषण की तकनीकें, उत्तरदायित्व और सामाजिक लेखांकन।
  • अंकेक्षण का अर्थ एवं उद्देष्य, सामाजिक, निष्पत्ति एवं दक्षता अंकेक्षण, सरकारी अंकेक्षण की प्रारम्भिक जानकारी।
  • निष्पादन बजट एवं शून्य आधारित बजट की सामान्य जानकारी, विधि की अवधारणा- स्वामित्व एवं कब्जा, व्यक्तित्व, दायित्व, अधिकार एवं कर्तव्य।
  • वर्तमान विधिक मुद्दे- सूचना का अधिकार, सूचना प्रौद्योगिकी विधि साइबर अपराध सहित (अवधारणा, उद्देष्य, प्रत्याषाएं), बौद्धिक सम्पदा अधिकार (अवधारणा, प्रकार एवं उद्देष्य)।
  • स्त्रियों एवं बालकों के विरूद्ध अपराध- घरेलू हिंसा, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012, बाल श्रमिकों से संबंधित विधि।
  • माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण तथा कल्याण अधिनियम, 2007।
  • राजस्थान में महत्वपूर्ण भूमि विधियां-
    • राजस्थान भू राजस्व अधिनियम, 1956
    • राजस्थान काष्तकारी अधिनियम, 1955